ALL उज्जैन शहर राज्य स्वास्थ्य देश विदेश मनोरंजन
"हुआ शुभारंभ आई मंगल बेला”, ”मेहंदी लगा के रखना” पर झूमे दिव्यांग जोड़ें दिव्यांग जनों के महिला संगीत कार्यक्रम में  आकर्षक प्रस्तुतियां दी गई
March 11, 2020 • अपूर्व देवड़ा • उज्जैन शहर

उज्जैन ।  सामूहिक दिव्यांग विवाह / निकाह सम्मेलन के अंतर्गत बुधवार की शाम को मेघदूत गार्डन के परिसर में बनाए गए विशाल डोम में जिला प्रशासन द्वारा महिला संगीत कार्यक्रम आयोजित किया गया । संगीत कार्यक्रम में विभिन्न आकर्षक प्रस्तुतियां दी गईंं जिनमें दिव्यांग जोड़ें आनंदित होकर अपने अपने स्थान पर झूमने लगे । 

    संगीत कार्यक्रम के पहले सभी आनंदकोंं और दिव्यांग जनों के परिवार जनों द्वारा गरबा नृत्य प्रस्तुत कर अपनी खुशी जाहिर की गई ।संगीत कार्यक्रम का संचालन श्री सुदर्शन आयाचित और सुश्री पद्मजा रघुवंशी द्वारा किया गया । संगीत कार्यक्रम में कलेक्टर श्री शशांक मिश्र, प्रभारी सीईओ  जिला पंचायत  श्री क्षितिज सिंघल, नगर निगम आयुक्त श्री ऋषि गर्ग, जिला पंचायत के अध्यक्ष श्री करण कुमारिया, अपर कलेक्टर श्रीमती विदिशा मुखर्जी, सेवा धाम आश्रम के संचालक श्री सुधीर भाई गोयल, श्री केसर सिंह पटेल और विभिन्न आनंदक मौजूद थे । अतिथियों द्वारा मंच पर  संगीत के दौरान दी जाने वाली  प्रस्तुतियों को देखकर  प्रशंसा की गई  साथ ही मंच से प्रतीकात्मक स्वरूप कुछ दिव्यांग वधुओं  को दुल्हन का जोड़ा भेंट किया गया ।

      महिला संगीत का विधिवत शुभारंभ कलापथक दलों द्वारा भगवान गणेश की वंदना के साथ हुआ । इसके बाद पारंपरिक बन्ना बन्नी के गीत गाए गये । कलाकार श्री रामचंद्र गंगोलिया और उनके साथियों द्वारा विवाह कार्यक्रम के अंतर्गत मालवी भाषा में ”मामेरा” और होली पर्व को ध्यान में रखते हुए ”फाग” के गीत गाए गए । इसके पश्चात सुंदर लाल मालवीय द्वारा आकर्षक प्रस्तुति दी गई ।

     कलाकार सुश्री वंदना चौहान और उनके दल द्वारा नृत्य के माध्यम से गणेश वंदना की गई । गणेश वंदना के पश्चात सुश्री अवनी शुक्ला द्वारा शिव वंदना की गई । शिव वंदना के बाद माधव संगीत महाविद्यालय की छात्राओं द्वारा श्रीमती स्वाति तैलंग के निर्देशन में लोकप्रिय फिल्मी गीतों "वाह वाह रामजी जोड़ी क्या बनाई”, ” मेहंदी लगा के रखना डोली सजा के रखना” ” सातों फेरे होंगे अब हाथों में लेकर हाथ ” जैसे लोकप्रिय गीतों पर प्रस्तुति दी गई जिस पर पूरा हॉल दर्शकों की तालियों की गड़गड़ाहट से गूंज उठा । इसके पश्चात निनाद नृत्य अकादमी की सुश्री पलक पटवर्धन के निर्देशन में कलाकारों द्वारा ”दूल्हे का सेहरा सुहाना लगता है” और अन्य मशहूर फिल्मी गीतों पर प्रस्तुति दी गई जिनका दिव्यांग जनों और उनके परिवार ने भरपूर आनंद लिया । महिला संगीत में विभिन्न आकर्षक प्रस्तुतियों का सिलसिला यूं ही निरंतर चलता रहा ।

     कलेक्टर शशांक मिश्र द्वारा विवाह के बंधन में बंधने वाले समस्त दिव्यांग जोड़ों को जिला प्रशासन की ओर से ढेर सारी शुभकामनाएं दी गई और उनके मंगल और उज्जवल भविष्य की कामना की गई ।