ALL उज्जैन शहर राज्य स्वास्थ्य देश विदेश मनोरंजन
बड़नगर में जय किसान फसल ऋण माफी योजना अन्तर्गत कृषि मंत्री ने 5 हजार किसानों को 35 करोड़ के सम्मान-पत्र वितरित किये
March 5, 2020 • अपूर्व देवड़ा • उज्जैन शहर

कृषि उपज मंडी निर्माण कार्य का लोकार्पण कर 6 करोड़ की रोड का भूमि पूजन किया, कृषि मंत्री ने कहा 365 वचनों में सबसे महत्वपूर्ण वचन किसानों की ऋण माफी का वचन है

उज्जैन। प्रदेश के किसान कल्याण एवं कृषि विभाग मंत्री श्री सचिन सुभाष यादव ने गुरूवार को कृषि उपज मंडी बड़नगर में जय किसान फसल ऋण माफी योजना के अन्तर्गत आयोजित कार्यक्रम में बड़नगर के 5 हजार 122 किसानों के 35 करोड़ तीन लाख रुपये के ऋण माफी का सम्मान-पत्र वितरित किया। उन्होंने मंच से श्री पंकज यादव, लक्ष्मणसिंह, चैनसिंह, कृष्णगोपाल, धन्नालाल, सुरेश कुमार को ऋण मुक्ति का सम्मान-पत्र प्रदान किया। इस अवसर पर उन्होंने कृषि उपज मंडी के निर्माण कार्य, जो कि एक करोड़ 13 लाख 79 हजार रुपये की लागत से निर्मित किया गया है, उस निर्माण कार्य का लोकार्पण किया तथा छह करोड़ की लागत से बनाये जाने वाले रोड निर्माण कार्य का भूमि पूजन किया। कृषि मंत्री ने विधायक निधि से स्वीकृत 24 नग टेंकर मौके पर ही हितग्राहियों को प्रदान किये। इस अवसर पर उन्होंने हितग्राहियों को ट्रेक्टर, हार्वेस्टर, कृषि यंत्र प्रदान किये। साथ ही खरसोदकला मंडी में निर्मित 24 दुकानों, बड़नगर के विश्राम गृह, ई-कक्ष का भी लोकार्पण किया। नया सबेरा योजना के अन्तर्गत छह हितग्राहियों को दो-दो लाख रुपये की राशि भी वितरित की।
इस अवसर पर उपस्थित किसानों को सम्बोधित करते हुए कृषि मंत्री श्री यादव ने कहा कि विगत एक वर्ष में मध्य प्रदेश सरकार ने किसानों के लिये अनेक कार्य किये हैं। जब हमें प्रदेश मिला, तब प्रदेश का खजाना खाली था। किसान आत्महत्या, महिला अत्याचार एवं बेरोजगारी में प्रदेश नम्बर-1 था, लेकिन मुख्यमंत्री ने इसे एक चुनौती के रूप में लेकर सब बाधाओं को पार किया। 365 दिनों में 365 वचनों को पूरा किया, जिसमें सबसे महत्वपूर्ण वचन किसानों की ऋण माफी का था, जो आज पूरा हो रहा है। उन्होंने बताया कि प्रदेश में 72 हजार करोड़ के किसानों के ऋण माफ किये जा रहे हैं। ऋण माफी का कार्य एक चुनौतीपूर्ण कार्य है, क्योंकि इसका आकार और पैमाना बड़ा है। इसलिये इसे चरणबद्ध तरीके से लागू किया गया है। सभी किसानों को ऋण माफी के दायरे में लाने का कार्य किया जा रहा है। प्रथम चरण में सात हजार करोड़ रुपये तक के ऋण माफ किये हैं। दूसरे चरण में किसानों के 50 हजार से एक लाख रुपये तक के ऋण माफ किये जा रहे हैं। कालातीत खातों वाले किसान जो पहले चरण में छूट गये थे, उन्हें दूसरे चरण में शामिल किया जायेगा। कृषि मंत्री ने कहा कि शासन का प्रयास है कि किसानों की कृषि लागत का मूल्य कम किया जाये और किसानों को अपनी उपज का उचित दाम मिले। इस दिशा में सरकार कार्य कर रही है। किसानों के 10 हॉर्सपावर तक के बिजली के बिल आधे किये गये हैं। कृषि यंत्रों पर 50 प्रतिशत तक की सब्सिडी दी जा रही है। कृषि मंडियों में फसल लाने वाले किसानों की फसल का दो लाख रुपये तक का भुगतान नगद किया जा रहा है। श्री यादव ने बताया कि प्रदेश में प्रथम चरण में एक हजार गौशालाओं का निर्माण किया गया है। द्वितीय चरण में तीन हजार गौशाला का निर्माण कार्य किया जायेगा। उन्होंने कृषकों से अपील की कि वे जैवकि खेती की ओर लौटें। अपने खेतों में रासायनिक एवं कीटनाशक का उपयोग न करें। उन्होंने कृषि अधिकारियों को भी निर्देश दिये कि वे किसानों के बीच जाकर गौ-आधारित खेती के फायदे बतायें। उन्होंने बताया कि शासन एक महत्वपूर्ण योजना पर कार्य कर रही है। इस योजना के तहत जो किसान मंडी में मनचाहा दाम में फसल नहीं बेच पाते हैं, उनकी फसल को मंडी से 15 किलो मीटर दूर स्थित वेयर हाऊस या गोदाम में रखा जायेगा। गोदाम एवं वेयर हाऊस का किराया सरकार देगी तथा यदि किसान को राशि की आवश्यकता है तो वह गोदाम में रखे अपनी उपज के मान से 70 प्रतिशत राशि ऋण के रूप में ले सकेगा।
कृषि मंत्री श्री यादव ने कहा कि मध्य प्रदेश शासन 60 लाख हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई का लक्ष्य लेकर चल रही है। नर्मदा नदी के पानी का इस्तेमाल सिंचाई के रूप में करने की योजना पर कार्य किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि नर्मदा नदी का जल किसान के खेतों तक पहुंचाया जायेगा। बड़नगर विधायक श्री मुरली मोरवाल ने किसानों को सम्बोधित करते हुए कहा कि आज आयोजित कार्यक्रम में पांच हजार किसानों को सम्मान-पत्र वितरित किये जा रहे हैं। आगामी दो माह में शेष रह गये किसानों के ऋण माफ किये जायेंगे। शासन ने स्कूल, किचन शेड एवं डेम का निर्माण प्राथमिकता से किया है। बड़नगर में डेम के निर्माण से लोगों को प्रतिदिन पेयजल मिल रहा है। हर ग्राम पंचायत में कार्य हो रहे हैं। उन्होंने कृषि मंत्री से मांग की कि बड़नगर में फल-सब्जी मंडी निर्माण के लिये चार करोड़ की राशि एवं गोदाम निर्माण के लिये राशि उपलब्ध करायें। नागदा-खाचरौद विधायक श्री दिलीपसिंह गुर्जर ने बताया कि आज किसानों को सोयाबीन, प्याज, लहसुन के उचित दाम मिल रहे हैं। किसानों के चेहरे पर मुस्कुराहत आ रही है। कलेक्टर श्री शशांक मिश्र ने ऋण माफी योजना के अन्तर्गत किसानों के ऋण माफी के सम्बन्ध में जानकारी दी।
कार्यक्रम को जिला युवा कांग्रेस अध्यक्ष श्री करण मोरवाल एवं श्री होशियारसिंह राजावत ने भी सम्बोधित किया। इसके पूर्व कृषि मंत्री का झाबुआ से आई भगोरिया नृत्य मण्डली द्वारा नृत्य के माध्यम से स्वागत किया गया।
बड़नगर में आयोजित कार्यक्रम में जिला पंचायत अध्यक्ष श्री करण कुमारिया, जिला सहकारी बैंक के प्रशासक श्री अजीतसिंह, जिला ग्रामीण कांग्रेस अध्यक्ष श्री कमल पटेल, जिला पंचायत के सदस्यगण, पार्षदगण, बड़ी संख्या में किसान, जनप्रतिनिधिगण एवं प्रिंट एवं इलेक्ट्रॉनिक मीडिया के प्रतिनिधिगण उपस्थित थे।