ALL उज्जैन शहर राज्य स्वास्थ्य देश विदेश मनोरंजन
गर्भवती माताओं का शतप्रतिशत पंजीयन एवं एएनसी होने पर कुपोषण की दर कम होगी-संभागायुक्त
March 7, 2020 • अपूर्व देवड़ा • उज्जैन शहर

उज्जैन। गर्भवती माताओं का शतप्रतिशत पंजीयन एवं एएनसी होने पर कुपोषण की दर कम होगी। यह बात उज्जैन संभागायुक्त श्री आनंद कुमार शर्मा ने आज शाजापुर जिला मुख्यालय पर अधिकारियों की बैठक में स्वास्थ्य तथा महिला एवं बाल विकास विभाग के कार्यांे की समीक्षा के दौरान कही। इस अवसर पर कलेक्टर डाॅ. वीरेन्द्र सिंह रावत, अपर कलेक्टर श्रीमती मंजूषा विक्रांत राय, अनुविभागीय अधिकारी शुजालपुर श्री विवेक कुमार, सीईओ जिला पंचायत श्रीमती शिवानी वर्मा, अनुविभागीय अधिकारी शाजापुर श्री यू.एस. मरावी, संयुक्त कलेक्टर श्री वी.पी. सिंह, डिप्टी कलेक्टर श्रीमती जूही गर्ग सहित विभिन्न विभागों के अधिकारी मौजूद थे।
कुपोषण के संबंध में संभागायुक्त श्री शर्मा ने कहा कि स्वास्थ्य और महिला एवं बाल विकास विभाग गर्भवती माताओं का शतप्रतिशत पंजीयन एवं प्रसव पूर्व (एएनसी) की जाने वाली सभी जांचे करे, तो अपने आप कुपोषण की दर कम हो जाएगी। वहीं प्रसव के दौरान होेने वाली मृत्यु की दर में भी कमी आएगी। दोनो विभाग के पर्यवेक्षक पंजीयन एवं एएनसी का रिकार्ड अपने साथ रखे। गांवो से प्रसव के लिए मायके जाने वाली एवं अन्य स्थानों से प्रसव के लिए गांव में आने वाली गर्भवती माताओं के लिए पलायन रजिस्टर बनाकर पंजीयन करे। सभी गर्भवती माताओं का समय-समय पर टीकाकरण आदि सुनिश्चित हो। इसके लिए उन्होंने कलेक्टर से कहा कि स्वास्थ्य तथा महिला एवं बाल विकास विभाग के अधिकारियों की बैठक लेकर लक्ष्य प्रदान करें।
शाजापुर के प्रथम आगमन पर संभागायुक्त श्री शर्मा ने अधिकारियों की बैठक लेकर कहा कि प्रत्येक विभाग योजनाओं क्रियान्वयन में विशेष उपलब्धियां हासिल करें। उन्होंने कहा कि वे प्रतिमाह सभी विभागों के कार्यों की समीक्षा करेंगे और अच्छा कार्य करने वालो को प्रोत्साहित एवं खराब कार्य करने वालो को दण्डित भी करेंगे। खाद्य विभाग के कार्यों की समीक्षा में उन्होंने आधार सीडिंग का कार्य अप्रैल माह तक पूरा करने के लिए कहा। उद्यान एवं कृषि विभाग के कार्य की समीक्षा करते हुए संभागायुक्त ने कहा कि किसानों को मिश्रित फसलें लगाने के लिए प्रोत्साहित करें। एक्सटेंशन अधिकारियों से ग्रामीण क्षेत्रों में नियमित दौरा करवाएं और शासन की विभागीय योजनाओं की जानकारी ग्रामीणों को देने के लिए कहें। साथ ही किसानों को उन्नत खेती करने के तरीके भी बताएं। किसानों को आर्थिक रूप से मजबूत बनाने के लिए खेती के साथ-साथ अन्य गतिविधियों जैसे कि मछली पालन, पशुपालन, डेयरी आदि से जोड़े। खण्ड स्तरों पर किसानों के मेले लगाकर उन्नत कृषि यंत्रों एवं उनके प्रयोगों की जानकारी किसानों को दें। रासायनिक खाद एवं दवाईयों के जरूरत के हिसाब से उपयोग करने की सलाह किसानों को दें। जिला सहकारी केन्द्रीय बैंक मर्यादित के सीईओ से उन्होंने कहा कि किसान क्रेडिट कार्ड के साथ-साथ मछुआरों को मछुआ क्रेडिट कार्ड भी दें। उद्योग विभाग के अधिकारी से संभागायुक्त ने कहा कि दिव्यांगों को अपने पैरों पर खड़े होने के लिए स्वरोजगार से जोड़ने के लिए विशेष उपाय किये जाए। पंजीयन विभाग की समीक्षा में उन्होंने वसूली में राजस्व विभाग की मदद लेने के लिए कहा। शहरी विकास अभिकरण के परियोजना अधिकारी से कहा कि शासन का राजस्व बढ़ाने के लिए प्रत्येक आवंटित दुकानों का पंजीयन कराएं। साथ ही पंजीकृत व्यक्ति द्वारा अन्य को दुकान ट्रान्सफर करने पर उसका भी पंजीयन कराएं। पिछड़ा वर्ग, शिक्षा एवं जनजातीय कल्याण एवं अनुसूचित विकास विभाग के अधिकारियों से संभागायुक्त ने कहा कि छात्रावासों एवं विद्यालयों में बच्चों की सुरक्षा का पूरा ध्यान रखें। साथ ही छात्रावासों में प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारियों पर भी विशेष ध्यान दें। छात्रवृत्ति के वितरण पर भी नज़र रखें। लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग के अधिकारी से संभागायुक्त ने कहा कि बंद पड़ी नल-जल योजनाओं को एक माह में चालू कराएं। जिला परिवहन अधिकारी से उन्होंने कहा कि विद्यालयों में संलग्न सभी बसों एवं परिवहन के अन्य संसाधनों की फिटनेस चेक करें। वही सार्वजनिक परिवहन में लगे वाहन चालकों एवं परिचालकों के समय-समय पर पुलिस वेरिफिकेशन भी करवाएं। सभी निर्माण विभाग निर्माण कार्यों की गुणवत्ता पर ध्यान दें। जिस विभाग का निर्माण चल रहा हो उस विभाग के अधिकारियों को समय-समय पर कार्यों का अवलोकन भी कराएं। शिक्षा विभाग सभी विद्यालयों में विशेषकर बालिकाओं के लिए शौचालय बने है या नहीं देखें। जिन विद्यालयों में शौचालय नहीं है वहां शौचालय बनवाएं। साथ ही प्रतिवेदन दे कि सभी विद्यालयों के शौचालयों का उपयोग हो रहा है। उन्होंने सभी अधिकारियों से कहा कि जब भी दौरे पर जाएं तो विद्यालयों के शौचालयों का निरीक्षण अवश्य करें। पशु चिकित्सा विभाग एवं पंचायत विभाग गौशालाओं के संचालन के लिए स्वसहायता समूहों को प्रशिक्षित करें। गौशालाओं मे नस्ल सुधार आदि के कार्यक्रम भी चलाएं। जिला पेंशन अधिकारी से संभागायुक्त ने कहा कि अभियान चलाकर सेवा निवृत्ति के पुराने प्रकरणों का निराकरण करें। उद्यानिकी विभाग के अधिकारी से संभागायुक्त ने किसानों को आर्थिक रूप से मजबूत करने के लिए किसान संघ बनाने के लिए भी कहा। सामाजिक न्याय विभाग के अधिकारी को आधार सीडिंग का कार्य शतप्रतिशत करने के निर्देश दिए। श्रम एवं खाद्य विभाग के अधिकारी को अपात्र लोगों के नाम हटाने के निर्देश दिए। खनिज विभाग के अधिकारी से वसूली में तेजी लाने के लिए कहा गया। लोकसेवा प्रबंधक एवं ई-गर्वर्नेन्स मैनेजर को निर्देश दिए कि सभी कार्यालयों को ई-आफिस में बदलने के लिए कार्रवाई करें।
इसके उपरान्त उन्होंने स्वास्थ्य विभाग के खण्ड चिकित्सा अधिकारियों, चिकित्सा अधिकारियों, महिला एवं बाल विकास परियोजना अधिकारियों तथा दोनों विभागांें के पर्यवेक्षकों की बैठक लेकर शतप्रतिशत गर्भवती माताओं का पंजीयन एवं एएनसी करने के निर्देश दिए। इस मौके पर सीएमएचओ डाॅ. प्रकाश फुलम्ब्रीकर, कार्यक्रम अधिकारी श्री सुभाष जैन, डीएचओ डाॅ. प्रकाश पण्डित सहित अन्य अधिकारी भी उपस्थित थे।