ALL उज्जैन शहर राज्य स्वास्थ्य देश विदेश मनोरंजन
कलेक्टर एवं एस पी ने लिया 4 तहसील मुख्यालयों का जायजा
May 18, 2020 • EDITOR • उज्जैन शहर

सेम्पल लेने में कोई कोताही न बरती जाये
 
उज्जैन 17 मई। कलेक्टर श्री आशीष सिंह एवं पुलिस अधीक्षक श्री मनोज कुमार सिंह ने कोरोना महामारी के मद्देनजर चार तहसील मुख्यालयों का जायजा लेकर सम्बन्धित अधिकारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश दिये। कलेक्टर ने इस अवसर पर अधिकारियों को निर्देश दिये कि कोरोना संदिग्ध व्यक्तियों की सेम्पलिंग के कार्य में किसी प्रकार की कोताही न बरती जाये। उन्होंने कहा कि जिले में सर्दी, खांसी, बुखार से पीड़ित व्यक्तियों का सर्वे का कार्य भी करवाया जा रहा है, जिससे कोरोना संदिग्ध की पहचान हो सके। एक रणनीति के अनुसार पीड़ितों की पहचान की जा रही है। उन्होंने कहा कि कोरोना के लक्षण होने पर व्यक्ति तुरन्त चिकित्सकीय सलाह लेकर उपचार कराये।
 कलेक्टर एवं पुलिस अधीक्षक ने सर्वप्रथम बड़नगर तहसील मुख्यालय का निरीक्षण कर अधिकारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश दिये। इस अवसर पर अनुविभागीय अधिकारी बड़नगर श्रीमती एकता जायसवाल ने कलेक्टर को अवगत कराया कि बड़नगर में फिलहाल कुल 34 पीड़ित व्यक्ति हैं, जिनमें दो व्यक्तियों का उपचार इन्दौर में और शेष का उज्जैन में इलाज किया जा रहा है। एसडीएम ने अवगत कराया कि पांच कंटेनमेंट एरिया को सोमवार 18 मई को मुक्त कर दिया जायेगा। कलेक्टर ने घर-घर सर्वे करने जा रही टीम के बारे में भी जानकारी प्राप्त की। कलेक्टर ने कहा कि पॉजीटिव आने पर व्यक्ति डरे नहीं। लक्षण पाये जाने पर सेम्पलिंग अनिवार्य रूप से कराई जाये, ताकि समय पर उपचार हो सके। कलेक्टर ने एसडीएम से उपार्जन की भी जानकारी प्राप्त की। कलेक्टर ने एसडीएम को निर्देश दिये कि उपार्जन के बारे में सतत मॉनीटरिंग की जाये, ताकि समय पर किसानों का गेहूं खरीदा जा सके। कलेक्टर ने बड़नगर में सार्वजनिक उद्घोषणा के लिये तैयार सिस्टम का भी अवलोकन किया। माइक सिस्टम से कलेक्टर एवं पुलिस अधीक्षक ने आम जनता को सम्बोधित किया और कहा कि वे लॉकडाउन एवं कर्फ्यू तथा सोशल डिस्टेंसिंग का अनिवार्य रूप से पालन करें। उन्होंने प्रवासी श्रमिकों के बारे में भी जानकारी प्राप्त कर सम्बन्धित अधिकारी को आवश्यक निर्देश दिये।
खाचरौद, नागदा की स्थिति का जायजा लिया
 कलेक्टर एवं पुलिस अधीक्षक ने इसके बाद खाचरौद तहसील मुख्यालय का निरीक्षण किया एवं सम्बन्धित अधिकारियों से जानकारी प्राप्त कर आवश्यक दिशा-निर्देश दिये। उन्होंने इस दौरान निर्देश दिये कि 31 मई तक धार्मिक स्थल नहीं खोले जायें। पुलिस अधीक्षक ने सम्बन्धित पुलिस अधिकारियों को निर्देश दिये कि लॉकडाउन का अनिवार्य रूप से पालन करवाया जाना सुनिश्चित करें। इसके बाद कलेक्टर एवं पुलिस अधीक्षक ने नागदा शहर का भ्रमण किया एवं सर्किट हाऊस पर जनप्रतिनिधियों एवं आमजन से चर्चा की। इस दौरान क्षेत्रीय विधायक श्री दिलीप गुर्जर से भी चर्चा की। कलेक्टर ने लॉकडाउन एवं कर्फ्यू के दौरान अत्यावश्यक सामग्री, राशन आदि की सप्लाई पर चर्चा की। लॉकडाउन एवं कर्फ्यू में जनप्रतिनिधियों एवं आमजन के सहयोग के लिये कलेक्टर ने उनका धन्यवाद ज्ञापित किया और कहा कि इसी प्रकार का सहयोग उन्हें मिलता रहे। कलेक्टर ने सर्किट हाऊस पर पूर्व विधायक श्री दिलीप शेखावत एवं अन्य जनप्रतिनिधियों से भी चर्चा की।
महिदपुर में पैदल भ्रमण किया
 कलेक्टर एवं पुलिस अधीक्षक ने महिदपुर तहसील मुख्यालय पहुंचकर शहर में पैदल चलकर स्थिति का जायजा लिया और अधिकारियों से जानकारी प्राप्त की। यहां पर भी अधिकारियों ने जनप्रतिनिधियों एवं आमजन से चर्चा कर उनके द्वारा दिये गये सुझाव को अमल में लाने हेतु आश्वस्त किया। कलेक्टर ने महिदपुर में सर्किट हाऊस पर विधायक श्री बहादुरसिंह चौहान तथा अन्य जनप्रतिनिधियों से चर्चा की। कलेक्टर ने कहा कि मानवीय संवेदनाओं को देखते हुए आमजनों की मूलभूत सुविधाओं को उपलब्ध करवाये जाने का हरसंभव प्रयास किया जायेगा।