ALL उज्जैन शहर राज्य स्वास्थ्य देश विदेश मनोरंजन
कोरोना से लड़ाई में आज निर्णायक बढ़त, जिले के 113 कोरोना पॉजीटिव मरीज ठीक होकर एकसाथ घर गये
May 30, 2020 • EDITOR • उज्जैन शहर

उज्जैन। उज्जैन जिले में कोरोना संक्रमण से लड़ाई अब निर्णायक दौर में पहुंच गई है। आज जिले में कुल 113 कोरोना पॉजीटिव मरीज ठीक होकर खुशी-खुशी अपने घर की ओर लौटे। आरडी गार्डी मेडिकल कॉलेज से 55 मरीज, पुलिस ट्रेनिंग सेन्टर से 56 मरीज व इन्दौर से दो मरीज ठीक होकर डिस्चार्ज हो गये हैं। आरडी गार्डी एवं पीटीएस में वरिष्ठ अधिकारियों की उपस्थिति में उल्लासपूर्ण वातावरण में ढोल-ढमाके के साथ ठीक हुए मरीजों का उत्साहवर्धन करते हुए घर भेजा गया। आरडी गार्डी मेडिकल कॉलेज से पूर्णत: स्वस्थ होकर जा रहे लोगों को संभागायुक्त श्री आनन्द कुमार शर्मा, आईडी श्री राकेश गुप्ता, कलेक्टर श्री आशीष सिंह, पुलिस अधीक्षक श्री मनोज सिंह ने पुष्पगुच्छ भेंट किये।
आरडी गार्डी एवं पुलिस ट्रेनिंग स्कूल से कोरोना से जंग जीतकर अपने घरों को जा रहे लोगों को वरिष्ठ अधिकारियों द्वारा शुभकामनाएं दी गई। संभागायुक्त श्री आनन्द कुमार शर्मा ने स्वस्थ होकर जा रहे लोगों से उनका हालचाल पूछा तथा उन्हें आरडी गार्डी एवं पीटीएस में उपलब्ध कराई गई सुविधाओं के बारे में जानकारी ली। संभागायुक्त व आईजी ने एहतियात के तौर पर आने वाले 7 से 14 दिनों तक लोगों को घर पर ही रहकर अपना समय बिताने तथा सोशल डिस्टेंसिंग के पालन की हिदायत भी दी।
कलेक्टर श्री आशीष सिंह ने कहा कि आज उज्जैन के लिये एक अच्छा दिन है कि जिले के 113 कोरोना पॉजीटिव मरीज एकसाथ ठीक होकर अपने घरों को लौट रहे हैं। कलेक्टर ने कहा कि उज्जैन जिले में रिकवरी रेट 60 प्रतिशत के ऊपर हो गया है। कलेक्टर ने कहा कि उज्जैन जिले के जो भी हॉटस्पाट है, वहां से अब कोरोना पॉजीटिव मरीज कम निकलकर आ रहे हैं। उन्होंने बताया कि जिले में सर्वे के लिये लगाई गई टीम द्वारा निरन्तर सर्वे करके कोरोना के संदिग्ध मरीजों की पहचान की जा रही है एवं उनके सेम्पल लेकर जांच करवाई जा रही है, इस कारण से कोरोना संक्रमण के फैलाव पर प्रशासन द्वारा निरन्तर नजर है। कलेक्टर ने कहा कि कोरोना के मरीजों की जल्दी पहचान से उनका उपचार भी शीघ्र प्रारम्भ हो रहा है, इस कारण से रिकवरी रेट में सुधार हुआ है। इस अवसर पर आरडी गार्डी मेडिकल कॉलेज में नोडल अधिकारी श्री एसएस रावत, डॉ.सुधीर गवारीकर, डॉ.सुधाकर वैद्य आदि मौजूद थे।
पीटीएस में इस अवसर पर अपने घरों को जा रहे लोगों ने प्रशासकीय अधिकारियों और चिकित्सकों का आभार व्यक्त किया और कोरोना वारियर्स के सम्मान में ताली बजाई। इस दौरान वरिष्ठ अधिकारियों द्वारा भी स्वस्थ होकर जा रहे लोगों की हौसला अफज़ाई करते हुए तालियों की गड़गड़ाहट के साथ उन्हें अपने घरों के लिये विदा किया गया। उज्जैन के एक व्यक्ति ने कहा कि चिकित्सक दिन-रात उनकी सेवा में तत्पर थे। इलाज के दौरान पीटीएस में उनका और अन्य सभी का बहुत खयाल रखा गया।
पीटीएस के कोरोना वॉरियर्स जो दिन-रात मरीजों की सेवा में लगे रहे
इस दौरान पीटीएस में अपर कलेक्टर श्री अत्येंद्रसिंह गुर्जर, डॉ.एएस तोमर, एएसपी श्री अमरेंद्र सिंह, डॉ.अनमोल जैन, श्री दिलीप राठौर, डॉ.रोहित पराते, महिला एवं बाल विकास विभाग के श्री मनोज त्रिवेदी, श्री खेमराज चौहान, श्री हेमेंद्रसिंह राठौर, डॉ.विजय कुमार पांचाल, श्री गौतम अधिकारी, डॉ.वसीम खान, डॉ.अरविंद भटनागर, डॉ.रोहन कांठेड़, डॉ.महेन्द्र यादव, डॉ.एसके अखंड, डॉ.अनीता भिलवार, डॉ.विपट, डॉ.कपिल चौहान, डॉ.सुखदेव, डॉ.दीपक विश्वकर्मा, स्वास्थ्यकर्मी श्री एम्बरोज जॉर्ज, श्री रवि यादव, श्री प्रभाकर दास, श्री अमित यादव, श्री सावन कंडारे, श्री अरविंद सेठिया, सुश्री एंजेला जॉर्ज, सुश्री चन्दा गरूड़, श्री दिलीप राठौर, श्री पंकज तोमर, श्री ब्रजमोहन, श्री सुमेर चौहान, सफाईकर्मी श्री विनोद, श्री लोकेश तंबोली, श्री दीपक, श्री राहुल, श्री लखन, श्री आकाश और श्री भूरा मौजूद थे।
7 वर्ष से लेकर 75 वर्ष तक की उम्र के कोरोना पॉजीटिव मरीज स्वस्थ हुए
कोरोना वायरस के संक्रमण से डरने की आवश्यकता है। यह बात आज आरडी गार्डी मेडिकल कॉलेज, पुलिस ट्रेनिंग सेन्टर एवं इन्दौर से डिस्चार्ज होकर जा रहे कुल 113 मरीजों ने सिद्ध कर दी है। आज ठीक होकर जा रहे मरीजों में सात वर्ष की बालिका से लेकर 75 वर्षीय महिला भी शामिल है। डिस्चार्ज होकर घर जा रहे सभी मरीजों ने बताया कि उनकी देखभाल आरर्डी गार्डी मेडिकल कॉलेज एवं पीटीएस में बहुत ही अच्छे तरीके से की गई एवं उपचार भी अच्छा व समय पर मिला। इसी का परिणाम है कि वे आज स्वस्थ होकर घर जा रहे हैं।