ALL उज्जैन शहर राज्य स्वास्थ्य देश विदेश मनोरंजन
कृषि मंत्री ने खाचरोद में 3195 किसानों  को  21  करोड़  की ऋण माफी की
March 5, 2020 • अपूर्व देवड़ा • उज्जैन शहर

उज्जैन। प्रदेश के किसान कल्याण  तथा कृषि विकास  ,उद्यानिकी एवं खाद्य प्रसंस्करण मंत्री श्री सचिन यादव ने कहां है कि वर्षों तक कर्ज में डूबे किसानों को बैंक व  सोसाइटी से ऋण नहीं मिल रहा था  और उनके लिए बैंकों के दरवाजे बंद हो चुके थे। प्रदेश की संवेदनशील  मुख्यमंत्री  श्री कमलनाथ  की सरकार ने ऐसे किसानों के ऋण माफ करके उनके लिए फिर से बैंकों के दरवाजे खोल दिए  हैं।  उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार को काम करते-करते 365 दिन ही  हुए हैं और इतनी अल्प अवधि में सरकार ने 365 वचन पूरा करने का इतिहास रचा है। देश में किसानों की चिंता यदि किसी ने की है तो वह मध्य प्रदेश सरकार है जो विपरीत परिस्थिति में भी ऋण माफी योजना को पूरा करने जा रही है। उन्होंने कहा कि ऋण माफी योजना चरणबद्ध तरीके से लागू की जा रही है। प्रथम चरण में 50000 तक के और अब द्वितीय चरण में 50 हजार   से   1 लाख तक के ऋण की माफी की जा रही है ।इसी के तहत खाचरोद तहसील में 3195 कृषकों  को  आज 21  करोड़  रु   की ऋण माफी के प्रमाण पत्र सौंपे  गए  है ।कृषि मंत्री ने प्रतीकात्मक रूप से 19 किसानों को किसान ऋण माफी के प्रमाण पत्र सम्मान पूर्वक किये ।

      कृषि विकास  मंत्री ने कहा कि मुख्यमंत्री के नेतृत्व में सरकार यह कोशिश कर रही है कि हर वर्ग को कुछ ना कुछ लाभ दिया जाए। विधवाओं की पेंशन  300 से बढ़ाकर600 रु कर दी गई है ,इसको ।1000 तक ले जाया जाएगा ।उन्होंने कहा कि पहले बिजली के भारी भरकम भी लाते थे  अब  इंदिरा गृह ज्योति योजना के तहत कोई नियम और शर्त न रखते हुए सभी वर्ग को 100 यूनिट तक बिजली तक  मात्र 100 में रहे हैं ।प्रदेश के  सभी उपभोक्ताओं इस योजना का लाभ ले रहे हैं।

     इसके पूर्व कृषि  विकास मंत्री श्री सचिन यादव, विधायक श्री दिलीप सिंह गुर्जर , जिला पंचायत अध्यक्ष  श्री  करण कुमारिया  ,जिला सहकारी केंद्रीय बैंक के प्रशासक से अजीत सिंह ने दीप प्रज्वलन कर जय किसान ऋण माफी योजना के कार्यक्रम का शुभारंभ किया ।

      विधायक श्री दिलीप सिंह गुर्जर ने इस अवसर पर कहा कि हमारी सरकार कथनी व करनी में अंतर नहीं करती है। पूर्ववर्ती सरकार खजाना खाली करके गई थी ,फिर भी सरकार ने कर्ज माफी का वादा पूरा किया है ।उन्होंने बताया कि आज खाचरोद में आयोजित कार्यक्रम में 3195 कृषकों  के 21 करोड़ के ऋण माफ किए जा रहे हैं। इसके प्रमाण पत्र उनको  दिए  गए  है । विधायक ने कहा कि बजट के बाद वादे के मुताबिक दो लाख तक के ऋण  माफ कर दिए जाएंगे ।श्री गुर्जर ने कहा है कि वर्तमान सरकार ने किसानों को कुर्की से मुक्ति दिलाई है ।अब किसानों के चेहरे पर रौनक लौट रही है। जिला सहकारी केंद्रीय बैंक के प्रशासक अजीत सिंह ने कहा उज्जैन जिले में ऋण माफी के प्रथम चरण में  50000 रु  तक के 211 करोड़  रुपए के ऋण माफ किए गए हैं।  अब   द्वितीय  चरण में  50000 से 100000  रु  तक के 186 करोड रुपए का कर्ज माफ किया जा रहा है।

       कार्यक्रम में कृषि  विकास मंत्री जी सचिन यादव ने प्रतीकात्मक रूप से 19 किसानों को ऋण माफी के प्रमाण पत्र सौंपे   तथा 3 कृषकों को उन्नत कृषि यंत्र के प्रमाण पत्र दिए गए ।कार्यक्रम में आभार प्रदर्शन से सुबोध स्वामी ने किया। इस अवसर पर जिला पंचायत के अध्यक्ष श्री करण कुमारिया ,जिला अध्यक्ष श्री कमल पटेल ,श्री चेतन यादव, स्थानीय जनप्रतिनिधि, कलेक्टर श्री शशांक मिश्रा एवं अधिकारीगण मौजूद थे

मंडी प्रांगण में 94 लाख रुपए के कार्यों का लोकार्पण

     खाचरोद पहुंचने पर कृषि मंत्री श्री सचिन यादव ने कृषि उपज मंडी प्रांगण में बनाए गए चार गेट एवं चार स्टाफ क्वार्टर जिनकी लागत   94  लाख है का लोकार्पण किया। उन्होंने इस अवसर पर बस स्टैंड से चक्रतीर्थ तक मंडी द्वारा  17  लाख  60  हजार  रु  की  लागत से  बनाई जाने वाली   की लागत सड़क का भूमिपूजन भी किया। इस अवसर पर विधायक श्री दिलीप सिंह गुर्जर , जिला पंचायत अध्यक्ष  श्री  करण कुमारिया ,जिला सहकारी केंद्रीय बैंक के प्रशासक श्री अजीत सिंह ,श्री चेतन यादव सहित गणमान्य जनप्रतिनिधि मौजूद थे।