ALL उज्जैन शहर राज्य स्वास्थ्य देश विदेश मनोरंजन
मुख्यमंत्री ने कहा - सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिटल को 'कोविड हॉस्पिटल' बनाएंगे
June 8, 2020 • EDITOR • राज्य

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने आज एमवाय अस्पताल परिसर स्थित निर्माणाधीन सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिटल का निरीक्षण किया। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि इस अस्पताल को 'कोविड हॉस्पिटल' बनाएंगे। इस अवसर पर उनके साथ क्षेत्रीय सांसद श्री शंकर लालवानी, जल संसाधन मंत्री श्री तुलसीराम सिलावट, कमिश्नर डॉ. पवन कुमार शर्मा, कलेक्टर श्री मनीष सिंह, डीआईजी श्री हरिनारायणचारी मिश्र, अपर कलेक्टर श्री चन्द्रमौलि शुक्ला, पुलिस अधीक्षक श्री युसुफ साथ थे।
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि इस अस्पताल का निर्माण कार्य शीघ्रातिशीघ्र पूरा किया जाये। इस अस्पताल में मुख्य रूप से फर्नीचर और मशीन लगाने का काम बाकी है। सिविल वर्क लगभग पूरा हो गया है। इस अस्पताल में शीघ्र ही चिकित्सक और पैरामेडिकल स्टाफ की भर्ती की जायेगी। राज्य शासन द्वारा सभी आवश्यक पद स्वीकृत कर दिये गये हैं। वरिष्ठ अधिकारी समय-समय पर इसका निरीक्षण कर दिशा-निर्देश देते रहते हैं। एमजीएम मेडिकल कॉलेज के वरिष्ठ अधिकारी इस अस्पताल के लिये तकनीकी मार्गदर्शन देते रहते हैं।
उन्होंने कहा कि मालवा क्षेत्र की बढ़ती आबादी को देखते हुए इस तरह के सर्वसुविधा सम्पन्न अस्पताल की बहुत जरूरत थी। केन्द्र और राज्य सरकार ने मिलकर अस्पताल को मूर्त रूप दिया है। अस्पताल से इंदौर-उज्जैन संभाग के मरीजों को मुफ्त सेवा का लाभ मिलेगा और कोविड संक्रमण के निदान के बाद सभी बीमारियों का इलाज किया जायेगा। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि रोटी, कपड़ा और मकान के बाद शिक्षा और स्वास्थ्य मनुष्य की मूलभूत आवश्यकता है। चार सौ बिस्तरों वाले इस अस्पताल के निर्माण में लगभग 360 करोड़ रूपये लागत आयी है। इस अस्पताल में भू-तल और आधार तल को मिलाकर कुल दस मंजिल है। भू-तल पर खून, पेशाब की जाँच, एक्सरे और मस्तिष्क की जाँच के लिये मशीनें लगायी जा रही है। पहली मंजिल से बेड लगाये जाएंगे।
इस अवसर पर श्री कैलाश विजयवर्गीय, विधायक सर्वश्री महेन्द्र हार्डिया, सुश्री उषा ठाकुर, श्री आकाश विजयवर्गीय, पूर्व विधायक श्री सुदर्शन गुप्ता, श्री गौरव रणदीवे मौजूद थे। कार्यक्रम में डीन एमजीएम मेडिकल कॉलेज श्रीमती ज्योति बिंदल ने इस अस्पताल की गतिविधियों के संबंध में मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान को जानकारी दी। इस अस्पताल के मेडिकल विंग के प्रभारी डॉ. ए.डी. भटनागर, एमवाय अस्पताल के अधीक्षक डॉ. पी.एस. ठाकुर, डॉ. सलिल भार्गव के अलावा अनेक अधिकारी और जनप्रतिनिधि मौजूद थे।