ALL उज्जैन शहर राज्य स्वास्थ्य देश विदेश मनोरंजन
पीएम बोले - ईद आने से पहले दुनिया कोरोना मुक्त हो जाए
April 26, 2020 • EDITOR • देश विदेश

दिल्ली। देश में फैले कोरोना वायरस और इससे बचने के लिए लगाए गए लॉकडाउन के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को अपने Mann Ki Baat कार्यक्रम को संबोधित किया। पीएम मोदी ने बताया कि भारत की कोरोना के खिलाफ लड़ाई सही मायने में people driven है। भारत में कोरोना के खिलाफ लड़ाई जनता लड़ रही है, आप लड़ रहे हैं, जनता के साथ मिलकर शासन, प्रशासन लड़ रहा है। हम भाग्यशाली हैं कि आज पूरा देश, देश का हर नागरिक, जन-जन इस लड़ाई का सिपाही है और लड़ाई का नेतृत्व कर रहा है। आज पूरा देश, एक लक्ष्य, एक दिशा के साथ आगे बढ़ रहा है। 
ताली, थाली, दीया, मोमबत्ती, इन सारी चीज़ों ने जिन भावनाओं को जन्म दिया। जिस जज्बे से देशवासियों ने कुछ-न-कुछ करने की ठान ली, हर किसी को इन बातों ने प्रेरित किया है।
हमारे किसान भाई-बहन को ही देखिये - वो इस महामारी के बीच अपने खेतों में दिन-रात मेहनत कर रहे हैं और इस बात की भी चिंता कर रहे हैं कि देश में कोई भूखा ना सोये।
दूसरों की मदद के लिए, अपने भीतर, ह्रदय के किसी कोने में, जो ये उमड़ता-घुमड़ता भाव है ना! वही कोरोना के खिलाफ, भारत की इस लड़ाई को ताकत दे रहा है। चाहे करोड़ों लोगों का gas subsidy छोड़ना हो, लाखों senior citizen कर railway subsidy छोड़ना हो, स्वच्छ भारत अभियान का नेतृत्व लेना हो, toilet बनाने हो, ऐसी अनगिनत बातें है। इन सारी बातों से पता चलता है कि हम सबको एक मन-एक धागे से पिरो दिया है।
हर मुश्किल हालात, हर लड़ाई, कुछ-न-कुछ सबक देती है, कुछ-नकुछ सिखा करके जाती है, सीख देती है। सब देशवासियों ने जो संकल्प शक्ति दिखाई है, उससे, भारत में एक नए बदलाव की शुरुआत भी हुई है।
हमारे business, हमारे दफ्तर, हमारे शिक्षण संस्थान, हमारे medical sector, हर कोई, तेजी से नए तकनीकी बदलावों की तरफ बढ़ रहे हैं। Technology के front पर तो वाकई ऐसा लग रहा है कि देश का हर innovator नई परिस्थितियों के मुताबिक कुछ-न-कुछ नया निर्माण कर रहा है।
जब देश एक team बन करके काम करता है, तब क्या कुछ होता है - ये हम अनुभव कर रहे हैं। आज केंद्र सरकार हो, राज्य सरकार हो, इनका हर विभाग और संस्थान राहत के लिए मिल-जुल करके पूरी speed में काम रहे हैं।

पीएम मोदी के इस संबोधन पर पूरे देश की नजर इसलिए भी थी, क्योंकि लॉकडाउन की अवधि 3 मई को खत्म हो रही है। उम्मीद की जा रही थी कि पीएम मोदी लॉकडाउन में छूट का संकेत दे सकते हैं या लॉकडाउन के बाद की स्थिति पर नागरिकों से बात कर सकते हैं। हालांकि ऐसा कुछ नहीं हुआ।