ALL उज्जैन शहर राज्य स्वास्थ्य देश विदेश मनोरंजन
उत्तर प्रदेश का हिस्ट्रीशीटर विधायक आया उज्जैन, हुआ गिरफ्तार
August 14, 2020 • EDITOR • उज्जैन शहर

 

उज्जैन। उत्तर प्रदेश के कुख्यात गैंगस्टर विकास दुबे की उज्जैन के महाकाल मंदिर से गिरफ्तारी के बाद उत्तर प्रदेश के कानपुर ले जाते वक्त हुए एनकाउंटर के बाद अब उत्तर प्रदेश के ही एक और बाहुबली नेता की उज्जैन से गिरफ्तारी हुई है। 

शिवसेना में भी शामिल होने की संभावना थी

 

प्रदेश के भदोही जिले की ज्ञानपुर विधानसभा सीट से निषाद पार्टी के विधायक विजय मिश्रा को उज्जैन पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। दरअसल विजय मिश्रा उज्जैन में भगवान महाकालेश्वर के दर्शन करने पहुंचे थे। दर्शन कर लौटते समय तनोडिया पुलिस चौकी के पास उन्हें रोक लिया गया और आगर जिले की सेंट्रल कोतवाली थाने ले जाया गया जहां उनसे पूछताछ की जा रही है।

बताया जा रहा है कि बाहुबली विधायक विजय मिश्रा पर 70 से अधिक केस दर्ज हैं कुछ मामलों में वह फरार चल रहे हैं। इसी के चलते यूपी पुलिस के कहने पर मध्य प्रदेश के उज्जैन पुलिस ने उन्हें हिरासत में लिया है। यहां पर बता दें 2 दिन पूर्व ही उत्तर प्रदेश के इस बाहुबली विधायक ने उत्तर प्रदेश पुलिस पर उसकी हत्या करने की साजिश रचने की आशंका जताकर सनसनी फैला दी थी।

 

उन्होंने आशंका जताई थी के उत्तर प्रदेश पुलिस उनकी कभी भी हत्या कर सकती है क्योंकि उन्हें और उनके परिवार को लगातार झूठे केसों में फसाया जा रहा है और झूठी एफ आई आर दर्ज की जा रही है। उन्होंने यह भी आरोप लगाया था कि उत्तर प्रदेश के ब्राम्हण नेताओं को उत्तर प्रदेश की योगी सरकार द्वारा लगातार निशाना बनाया जा रहा है और फर्जी एनकाउंटर के जरिए मौत के घाट उतारा जा रहा है।

हालांकि उत्तर प्रदेश पुलिस में उनकी इस आशंका को लेकर खंडन किया था और सफाई दी थी कि पुलिस द्वारा विधायक विजय मिश्रा की सुरक्षा के लिए पहले से ही गनर दिया गया है। ऐसे में उज्जैन महाकाल दर्शन कर लौटने के दौरान मध्य प्रदेश की आगर पुलिस द्वारा बाहुबली विधायक भैया मिश्रा को रोकना और गिरफ्तार करना नए संदेश को उज्जैन में दे रहा है।हालांकि अभी तक किसी  जिम्मेदार अधिकारी ने उनकी गिरफ्तारी की पुष्टि नहीं की है। खबर यह भी है अपने एनकाउंटर के डर से ही उत्तर प्रदेश के बाहुबली विधायक विजय मिश्रा उज्जैन महाकाल दर्शन केेेेेेे लिए आए थे और वहाँ से बगलामुखी माता के दर्शन करने जा रहे थे तभी कनोडिया पुलिस चौकी उन्हें रोककर हिरासत में ले लिया गया।